top of page
  • Writer's pictureIPI NEWS DESK

Health Science :- बस इन बातों का रखें ख्याल और जिये एक स्वस्थ जीवन

Read Time:10 Minute, 21 Second

 आज के समय में हेल्थी लाइफ(स्वस्थ जीवन) जीना हमारे लिए बहुत जरूरी होता जा रहा इसकी वजह से ही हम अपने आप को और अपने शरीर को शारीरिक रूप से स्वस्थ मानसिक रूप से तंदुरुस्त रख सकते हैं|

अक्सर यह कहा जाता है कि एक सक्सेसफुल इंसान के पीछे और इंसान का साथ छुपा होता है परंतु सक्सेसफुल इंसान के लिए यह बहुत जरूरी है कि वह अपने आप को और अपने शरीर को सक्सेसफुल होने तक स्वस्थ और निरोगी रख पाए, इतना सब के सार रूप में किसी भी इंसान के लिए उसका शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य का सही होना बहुत जरूरी है,
 और कहा भी जाता है कि पहला सुख निरोगी काया, दूजा सुख घर में माया||

आज हम इस लेख के माध्यम से आपको यही बताने जा रहे हैं कि हम अपने स्वास्थ्य को किस तरह निरोगी रख सकते हैं इसके लिए हम आपको यह बताएंगे कि आपका नियमित दिनचर्या किस तरह की होनी चाहिए, आशा है आप हमारे इस लेख से अपने आप को जोड़ पाएंगे| 


Table of Contents

(1)Squat Pose(उकडू बैठना) :-

उकडू बैठना

आज के मॉडर्न लाइफ में हम लोग अपनी पुरानी कुछ गतिविधियों को भूलते जा रहे हैं, यह गतिविधियां देखने में हमेशा सामान्य लगती है परंतु अपने पीछे बहुत सारी कुछ लाभकारी मूल्य छुपाये होती है, उकडू बैठना भी उनमें से एक है| लाइफस्टाइल के चेंज हो जाने से हमारे घरों में भी जो चीजें हम पहले काम में लेते थे उसकी जगह पर नई चीजें काम में लेने लगे हैं, आप याद कर पाओ तो पुराने समय में हमारे टॉयलेट हम इसी तरह से उपयोग किया करते थे परंतु अब वेस्टर्न कल्चर आने के बाद हमने वह छोड़ दिया, यही कहना चाहूंगा कि दिन में लगभग तीन से चार बार, 5 मिनट के लिए उकड़ू बैठना शुरू करें, इससे आपके अब्ब्स मजबूत होंगे, आपका मेटाबॉलिज्म( उपापचय) सुधरेगा, आपका पाचन तंत्र मजबूत होगा, आपकी किडनी स्वस्थ तरह से कार्य करेगी, आपके घुटनों के बंध ( जॉइंट) कभी खराब नहीं होंगे, आप का रक्तचाप हमेशा सामान्य बना रहेगा

(2)First Morning Saliva(सुबह की लार):

आयुर्वेद में सुबह उठने के बाद की हमारी पहली लार एक महत्वपूर्ण औषधि के रूप में मानी जाती है| आपको यह सुनने में थोड़ा अजीब लग रहा होगा लेकिन रात भर सोने के बाद जब हम सुबह उठते हैं उस समय की लार हमारे शरीर के लिए बहुत आवश्यक होती है यह लार कई तरह से हमारे उपयोग में आने लायक होती है, यह किसी घाव मे एंटीसेप्टिक की तरह, हमारी बॉडी के अंदरइम्यूनिटी बूस्टर की तरह,हमारी आंखों में आई क्लीनिंग ड्रॉप की तरह कार्य करती है| कुछ लोग ब्रश करने के साथ ही इसको बेस्ट कर देते हैं जो ना तो हमारे पेट में जा पाती है और ना हम किसी एक्सटर्नल उपयोग में ले पाते हैं| आप लोगों ने बहुत से जानवरों को देखा होगा जो अपनी कहीं चोट पर जीभ घुमाते नजर आते हैं इसका भी यही कारण होता है किस जानवर अपनी चोट को एंटीसेप्टिक दे रहे होते हैं| सुबह जब हम पानी पीते हैं तो यह पानी के साथ हमारे पेट में जाने के बाद हमारा उपापचय और पाचन तंत्र मजबूत करती है| वहीं अगर किसी व्यक्ति को अधिक मात्रा में पिम्पल, फूंसिया होती है तो वहां उस स्थान पर लार लगा लेने से ठीक हो जाती हैं|

(3)Never Self Diagnose or google symptoms :

कुछ लोग गूगल को अपनी हर बीमारी के हल (सॉल्यूशन) की तरह देखते हैं अपने शरीर में हो रही किसी भी प्रकार की समस्या के निदान के लिए गूगल पर जाकर उसका उपचार ढूंढने लगते हैं, सच बताएं तो वहां वह अपने उपचार के लिए नहीं बल्कि अपनी समस्या बढ़ाने के लिए जाता है| जरूरी नहीं होता है कि किसी समस्या का उपचार सिर्फ मानसिक तनाव या खानपान ही हो परंतु गूगल आपको आपकी हर समस्या का यही समाधान देता है और जिसकी वजह से आप अपनी समस्या को गंभीर ना मानकर इग्नोर करते रहते हैं और बाद में यही एक छोटी समस्या आपके लिए गंभीर समस्या बन जाती है, असल में गलती गूगल की नहीं है इसमें गलती है आपकी क्योंकि गूगल आपके शरीर को और ना उसमें हो रही बीमारी को व्यक्तिगत रूप से जान पाता है वह सिर्फ आपके द्वारा बताए गए लक्षणों के आधार पर उसका उपचार बता देता है परंतु वह यह नहीं बता सकता कि उन लक्षणों की वजह क्या है तो इसलिए कभी भी जब अपने शरीर से जुड़ी हुई परेशानियां हो तो गूगल पर जाने के बजाय संबंधित डॉक्टर के पास जाकर उसका उपचार ले|

(4)Walking Barefoot(नंगे पैर चलना ) :-

नंगे पैर

यह एक ऐसी आदत है जो हमें अपने वास्तविक आचरण से रूबरू करवाएगी| जब हम बिना किसी प्रोटेक्शन(जूते, चप्पल ) कि घूमना स्टार्ट करेंगे तो हम हमारे दिमाग में यह चीज रखेंगे कि कहीं कोई चीज हमारे पैरों पर ना लग जाए और यह चीज दिमाग में रहने की वजह से हमारे दिमाग की सेंसिटिविटी बढ़ जाती है, इसलिए डॉक्टर्स भी कहते हैं कि दिन में थोड़ा बहुत नंगे पैरों से चलना चाहिए क्योंकि नंगे पैरों से चलने की वजह से हमारे कुछ पॉइंट पर प्रेशर पड़ता है और वह ऐसे पॉइंट्स होते हैं जो हमारे शरीर की बहुत सी गतिविधियो को नियंत्रित करते हैं|

(5)Lemon Water(नींबू पानी ):

नींबू पानी

सुबह उठने के बाद सबसे पहले गुनगुने पानी के साथ नींबू का उपयोग करें, नींबू हमारे शरीर में हानिकारक तत्वों को मूत्र के साथ निकालकर डिटॉक्स की तरह कार्य करता है, साथ ही नींबू में उपस्थित विटामिन सी हमारी त्वचा को चमक प्रदान करता है और हमारे शरीर की इम्युनिटी बढ़ाता है, अगर कोई व्यक्ति अपना मोटापा कम करना चाहता है तो नींबू पानी में शहद का उपयोग करें यह हमारे बॉडी से अतिरिक्त वसा को निकालने का कार्य करता है|

(6)Exercise & Yoga(व्यायाम और योगा ):-

व्यायाम

प्राचीन समय से ही हमारे देश में महर्षि पतंजलि जैसे योग गुरु ने योग की महिमा को अद्भुत बताया है योग के द्वारा हम ऐसी लाइलाज बीमारियों का भी उपचार कर सकते हैं जिनका उपचार अभी मेडिकल साइंस के पास भी नहीं, योग हमें आंतरिक शांति और मानसिक मजबूतीप्रदान करता है,वही व्यायाम भी हमारी दैनिक जिंदगी का एक अभिन्न अंग होना चाहिए व्यायाम की बदौलत हम हमारे शरीर को सक्रिय आकर्षक और सुडोल बना सकते हैं, और एक स्वस्थ शरीर में ही एक स्वस्थ मस्तिष्क का निवास होता है|

(7)Avoid Junk Food( जंक फूड) :

जंक फूड

आज की इस युवा पीढ़ी में जंक फूड का सेवन एक आम बात हो चुकी है, आज का हर युवा इस बीमारी से ग्रसित है युवावस्था के इस समय में हम इसकी हानियां नहीं समझ पाते परंतु इसके दुष्परिणाम बाद में दिखाई देते हैं, आज आप देख रहे होंगे कि कम आयु में ही युवाओं को रक्तचाप, हार्ट अटैक, मधुमेह,टीबी जैसी विभिन्न बीमारियां होने लगी है जंक फूड हमारे शरीर का आंतरिक रुप से नाश कर देती है इसलिए जंक फूड का कम से कम उपयोग किया जाना बहुत जरूरी है|

दोस्तों वैसे तो शरीर को स्वस्थ रखने के लिए अपनाई जाने वाली इन बातों का कोई अंत नहीं है फिर भी हमारे चैनल के माध्यम से आपको हमने कुछ महत्वपूर्ण बातें बताई हैं जिनको आप अपने दैनिक जीवन में उपयोग लेकर एक लंबे और अच्छे स्वास्थ्य की कल्पना कर सकते हैं|Inside Press India के आज के इस लेख में इतना ही, आशा है आपको हमारा यह लेख अच्छा लगा होगा पढ़कर और आप भी ऐसी गतिविधियां शुरू करेंगे मिलते हैं अगले किसी लेख में किसी अन्य मुद्दे पर बात करते हुए| धन्यवाद||

Subscribe INSIDE PRESS INDIA for more


JOIN IPI PREMIUM (FREE)

Happy

0 0 %

Sad

0 0 %

Excited

1 100 %

Sleepy

0 0 %

Angry

0 0 %

Surprise

0 0 %

2 views0 comments
bottom of page